Independence Day Hindi Poem: आंदोलन कभी ख़त्म नहीं होते...


㇐㇣㇐

उस समय की ज़रूरत थी-
"अंग्रेजों! भारत छोड़ो।"

और...

आज की ज़रूरत है-
"भारतीयों! भारत जोड़ो।"

ज़रूरतें बदलती जाती हैं,
पर आंदोलन कभी ख़त्म नहीं होते।

©RajendraNehra

㇐㇣㇐

आप भी अपनी हिंदी रचना को My Tukbandi पर प्रकाशन के लिए भेज सकते हैं. अधिक जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर जाएं:-

*Image Saurce: Pexels

Comments

Post a comment