Hindi Poem: घड़ी दो घड़ी ठहर के जाइए...


㇐㇣㇐

घड़ी दो घड़ी ठहर के जाइए,
आज तो दिल को भर के जाइए।

अब अंधेरों से लड़ा नहीं जाता,
मेरी रातों में चांद कर के जाइए।

ये उदासियां नहीं जमती तुम पर,
मुस्कुराहटों से संवर के जाइए।

मुहब्ब्त में जो कभी किए नहीं,
उन वादों से ना मुकर के जाइए।

अजी नहीं जी पाओगे हमारे बगैर,
ऐसे खयालातों से डर के जाइए।

खोये हुए ख़्वाबों का कारवां मिलेगा,
दिल की गली से गुज़र के जाइए।


㇐㇣㇐

आप भी अपनी हिंदी रचना को My Tukbandi पर प्रकाशन के लिए भेज सकते हैं. अधिक जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर जाएं:-
Submit your Hindi Stuff to ‘my tukbandi’
 

*Image source: Google (A still from the movie 'Hum Dono', 1961)

Comments

  1. nice poem ..bahot khub
    visit my blog for fitness update myfitnessindia.blogspot.com

    ReplyDelete
  2. शुक्रिया दोस्त!

    ReplyDelete
  3. वाह !!!! लाजवाब सर जोरदार। गजब लिखा आपने।

    ReplyDelete
  4. DuckyLuck is another wonderful possibility for real money American and European roulette video games. Across their a number of} tables, you 코인카지노 can find low-limit bets and high-roller choices. Play for as little as $0.5 up to as} $12,500 in the reside vendor studio. Live roulette is performed on real licensed gear and is checked over by regulators simply as incessantly as the virtual video games. This reside gaming setting is next-level leisure and is an absolute must-play experience. You will also, every so often ready to|be capable of|have the power to} access reside vendor bonuses.

    ReplyDelete

Post a Comment